default-logo

सेक्स एकाग्रता के लिए पद्मासन

March 01, 2015

क्या सेक्सुअल फिटनेस और के बीच कोई संबंध है? क्या वाकई योग से हम इस मामले में अपनी समस्याएँ दूर कर सकते हैं? और क्या हम एक स्वस्थ जीवन बिता सकते हैं?

  ND

दरअसल योग आपके आध्यात्मिक और सेक्स जीवन के बीच संतुलन बनाने का कार्य कर सकता है। योग का अर्थ ही होता है जोड़ या मिलन। योग आपके शरीर और आत्मा को एकाकार करना चाहता है। शरीर यदि किसी कारणवश असंतुष्ट है तो शांति और प्रगति की संभावना व्यर्थ है। स्वयं तक पहुँचने के लिए शुरुआत शरीर से ही करना होगी।

योग आपमें और आपके सहयोगी में एक-दूसरे के प्रति जागरूकता बढ़ाकर बेहतर अनुभव प्रदान करता है, जिससे आपका और आपके सहयोगी का जीवन स्टाइलिश होने लगता है। भरपूर जीवन शक्ति के लिए योग के अलावा और कोई विकल्प नहीं। तो आइए जानें की आपकी इसमें क्या मदद कर सकता है…।

मन : ध्यान मुद्रा में किया गया पद्मासन एक बेहतर आसन है जो आपके चित्त को एकाग्र करता है। चित्त की एकाग्रता से आप अपने सहयोगी के साथ पूरी सघनता से जुड़ते हैं। इस जुड़ाव से संतुष्टि का अहसास होता है।

  ND

शरीर : इस आसन से कूल्हों के जाइंट, माँसमेशियाँ, पेट, मूत्राशय और घुटनों में खिंचाव होता है जिससे इनमें मजबूती आती है और यह सेहतमंद बने रहते हैं। इस मजबूती के कारण उत्तेजना का संचार होता है। उत्तेजना के संचार से आनंद की दीर्घता बढ़ती है।

About the Author
dr.v.p.singh senior sexologist- Singh Clinic, Royal colony,Near satipur chauraha, Settelite Bus stand, pilibhit bypass road Bareilly-243005 (U.P) INDIA vpsingh309@gmail.com***098373 43729- 09370 57107

Leave a Reply

*

captcha *